बिजली बिल से लेकर ओटीटी का पेमेंट करना हुआ आसान! RBI ने बढ़ाई लिमिट, जानें नियम

RBI ने सब्सक्रिप्शन टाइप पेमेंट को आसान बना दिया और इसकी सीमा बढ़ा दी है। RBI ने बुधवार को कार्ड और UPI  के माध्यम से किए गए रिकरिंग पेमेंट पर ऑटो-डेबिट मैंडेट की सीमा को 5,000 से बढ़ाकर 15,000 कर दिया 

रिजर्व बैंक ने रिकरिंग पेमेंट जैसे कि डेबिट, क्रेडिट कार्ड या मोबाइल वॉलेट से किए जाने वाले बिजली भुगतान, Netflix-Amazon Prime जैसे ओटीटी प्लेटफाॅर्म 

मोबाइल बिल के पेमेंट समेत यूटिलिटी बिल  पेमेंट के ई-मैंडेट (E-Mandate) को अनिवार्य बना दिया है और इसकी सीमा को बढ़ाकर 15000 रुपये कर दिया गया है 

1 oct 2021 से बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों को डेबिट/क्रेडिट कार्ड पर 5000 से ज्यादा के ऑटो डेबिट मैन्डेट के लिए ग्राहकों से अतिरिक्त फैक्टर ऑथेंटिकेशन की मांग करनी होगी 

बैंक को ग्राहक को डेबिट/क्रेडिट कार्ड से ऑटो-डेबिट भुगतान काटे जाने से कम से कम 24 घंटे पहले एक सूचना भेजनी होगी और ग्राहक की ओर से मंजूरी मिलने के बाद ही पैसा कटेगा।  

Click below on the Link

Read More Interesting Stories